Search
  • KUK NGO

पढ़िए क्यों घर अनाथालय को दान कर खुद भी अनाथालय रहने लगी ये माँ ??


पवन शर्मा, करनाल: 2013 की केदारनाथ त्रासदी के दौरान करनाल की बुजुर्ग महिला कमला ने अपना पूरा परिवार खो दिया। वह सबसे बिछुड़कर अकेली रह गईं। लेकिन, मां तो मां है। क्या हुआ, जो कोख से जन्मी संतान दुनिया में नहीं है। उनकी ममता अब उन तमाम दीन दुखियों पर बरसती है, जिनका कोई नहीं है। इसी सोच के साथ उन्होंने अपना पूरा घर अनाथालय को दान कर दिया और खुद भी यहीं बस गईं ताकि यहां रहने वाले बच्चों पर अपनी ममता का साया कर सकें। हौसले की पराकाष्ठा देखिए, देश व समाज पर कोरोना का संकट आया तो एक बार फिर यह मां आगे आईं। घर तो पहले ही दान कर दिया था, अब अपनी जमा-पूंजी यानि एक लाख रुपये भी प्रधानमंत्री कोरोना रिलीफ फंड में दे दिए। कहती हैं कि, मेरा तो सभी कुछ पहले ही छिन गया था लेेकिन उनका क्या कुसूर, जो महामारी का कहर झेल रहे हैं। मेरी छोटी सी मदद उनका दर्द जरा भी कम कर सके तो इससे बढ़कर कुछ नहीं चाहिए...

#Savehumanitywithkukngo

612 views0 comments