Search
  • KUK NGO

एक पुलिस कर्मी ऐसी जिसका गर्भवती महिलाएं व बच्चे करते हैं इंतजार

कोरोना की जंग में शिवानी दे रही मानवता व ममता का परिचय ,लॉकडाउन में गरीबों व जरूरतमंदों को शिवानी उपलब्ध करा रही हैं खाना



चंडीगढ़, 6 मई (देवीलाल बारना) । कोरोना वायरस की जंग में जिदंगी सुरक्षित रखना सबसे बड़ी चुनौती है। लिहाजा इस चुनौती से निपटने के लिए हरियाणा पुलिस सबसे अग्रिम पंक्ति में खड़ी है। पुलिस न केवल लॉकडाउन में बेवजह बाहर घूमने वालों से सख्ती से पेश आ रही है तो जरूरतमंदों की सेवा कर मानवता का परिचय भी दे रही है। जी हां, पंचकूला सेक्टर-5 थाने में कार्यरत महिला एएसआई शिवानी मानवता के साथ ममता भी मिसाल पेश कर रही हैं। ममता भी यहां तक कि शिवानी गर्भवती महिलाओं, बुजुर्ग व बच्चों का खान वितरीत कर रही हैं। शिवानी का लगाव भी ऐसा कि सुबह कई जगह बच्चे व महिलाएं उनका इंतजार करती हैं। गर्भवती महिलाओं वे हर रोज दूध व ब्रेड, फल व खाना मुहैया करवाती हैं। एएसआई शिवानी जब से लॉकडाउन शुरु हुआ है तब से न केवल जरूरतमंदों को रोजाना खाना सामान पहुंचा रही हैं बल्कि प्रसव पीड़ा से कराहती दो महिलाओं की डिलीवरी भी करा चुकी हैं और तीन गर्भवती महिलाओं को हर रोज दूध से लेकर खाने का सामान पहुंचा रही हैं। इस काम में कंधा से कंधा मिलाकर सहयोग कर रही हैं महिला सिपाही प्रियंका। एएसआई शिवानी बताती हैं कि सेक्टर-5 में 'स्पेशल कम्युनिटी किचन में खाना तैयार करवाकर सेक्टर-5 तथा नाडा साहिब व सेक्टर-20 की झुग्गियों तथा अन्य जगहों पर खाना बांटा जा रहा है। इसके अतिरिक्त सेक्टर-8, 9, खडग़ मंगोली, ढकौली तथा इण्डस्ट्रियल एरिया, चंडीमंदिर के गांव बणा, आशियाना सेक्टर-26 तथा राजस्थानी झुग्गियों तक खाना पहुंचाया जाता है। शिवानी का कहना है कि सबसे पहले उन्होंने अपने घर से खाना बांटने की शुरूआत की और इसके बाद अपनी सिटी खाना एकत्रित शुरू और फिर कारवां बढ़ता चला गया। सेक्टर 20 व सनसिटी सोसायटी कई अन्य जगहों से खाना मिलता है, जिससे वे गरीबों को बांटती हैं।

1,194 views0 comments